RK TV News
खबरें
Breaking Newsधार्मिक

श्रद्धा पूर्वक महिलाओं ने रात्रि जागरण कर की पूजा।

RKTV NEWS/संजय सिंह,30 मार्च। अष्टमी का जो पूजन वह प्रायः सभी घरों में होता है।
हर गांव के पूर्व दिशा में काली माता का मंदिर होता है उस मंदिर में सात देवियों की पूजा होती है उसी देवी में से एक शीतला माता होती है।विशेष करके इसमें शीतला माता की ही पूजा होती है जो कि निशा पूजा (रात्रि जागरण ) कहलाती है।हिंदू धर्म में हर माह कोई न कोई प्रमुख व्रत-त्योहार आता है और हर एक व्रत-त्योहार का विशेष महत्व होता है. चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि को शीतला सप्तमी का व्रत रखा जाता है।शीतला मां का स्वरूप अत्यंत ही शीतल बताया जाता है और इनका स्वरूप रोगों को हरने वाला है. इनका वाहन गधा है. इनके हाथों में कलश, सूप, झाड़ू और नीम के पत्ते रहते हैं. शीतला सप्तमी को बसोड़ा के नाम से भी प्रचलित है. शास्त्रों के अनुसार, इस दिन भोजन पकाने के लिए आग नहीं जलाई जाती. बल्कि महिलाएं व्रत के एक दिन पहले ही भोजन पका लेती हैं और बसोड़ा वाले दिन घर के सभी सदस्य इसी बासी भोजन का सेवन करते हैं. माना जाता है शीतला माता चेचक रोग, खसरा आदि बीमारियों से बचाती हैं. मान्यता है, शीतला मां का पूजन करने से चेचक, खसरा, बड़ी माता, छोटी माता जैसी बीमारियां नहीं होती और अगर हो भी जाए तो उससे जल्द छुटकारा मिलता है।

Related posts

जिलाधिकारी नवादा आशुतोष कुमार वर्मा की अध्यक्षता मे नगर निकाय के अन्तर्गत स्लम क्षेत्र के बच्चों को बेहतर ढ़ंग से शिक्षा, स्वास्थ्य आदि की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए समीक्षात्मक बैठक आयोजित।

rktvnews

समुचित जल-वृष्टि के लिये मुख्यमंत्री ने महाकाल मंदिर में किया महारूद्र अनुष्ठान।

rktvnews

भाजपा भोजपुर के ओबीसी मोर्चा ने की बैठक।

rktvnews

कारगिल विजय दिवस जनपदभर में शौर्य दिवस के रूप में धूमधाम से मनाया गया।

rktvnews

उपायुक्त ने रात्रि निरीक्षण कर कांवरिया पथ में श्रद्धालुओं से बातचीत कर उन्हें मिल रही सुविधाओं की वस्तुस्थिति से अवगत हुए।

rktvnews

भारत-श्रीलंका वार्षिक द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास (स्लाइनेक्स-23) का आयोजन।

rktvnews

Leave a Comment